SO01

परिचयात्मक समाजशास्त्र
Year / Semester: 
1st Year
Objective: 

समाजशास्त्र की प्रासंगिकता एवं महत्व को समझना

Credits: 
6

खण्ड-1 समाजशास्त्र: एक परिचयात्मक विवेचन

इकाई 1 समाजशास्त्र का उद्भव विकास एवं विषयवस्तु

इकाई 2 समाजशास्त्र की प्रकृति: वैज्ञानिक एवं मानवीय दृष्टिकोण

इकाई 3 समाजशास्त्र और अन्य सामाजिक विज्ञान

इकाई 4 समाजशास्त्रीय अध्ययन में उपागम

इकाई 5 सामाजिक क्रिया

खण्ड-2 समाजशास्त्र में मुख्य अवधारणाएँ

इकाई 6 मूल अवधारणाएँ: समाज समुदाय संस्कृति एवं संस्था

इकाई 7 प्रस्थिति एवं भूमिका

इकाई 8 सामाजिक समूह: प्राथमिक एवं द्वितीयक

इकाई 9 सामाजिक मानदण्ड व मूल्य

इकाई 10 सामाजिक प्रक्रियाएँ: सहयोग, प्रतियोगिता एवं संघर्ष

खण्ड-3 सामाजिक प्रक्रियाएँ: परिचयात्मक विवेचन

इकाई 11 सामाजिक स्तरीकरण: अर्थ एवं आधार

इकाई 12 समाजीकरण: अर्थ, चरण एवं अभिकरण

इकाई 13 सामाजिक नियंत्रण: अर्थ, स्वरूप एवं साधन,

इकाई 14 सामाजिक परिवर्तन: अर्थ एवं कारक,

इकाई 15 सामाजिक परिवर्तन के प्रमुख सिद्धान्त

Suggested Readings: 
  1. मदान: विकास का समाजशास्त्र
  2. पाण्डेय गणेश पाण्डेय अरूनाःग्रामीण समाजशास्त्र राधा पब्लिकेशन नई दिल्ली।
  3. मजूमदार डी0 एन0 तथा मदन टी0 एन0 एन इन्ट्रोडक्शन टू सोशल एन्थ्रोपोलॉजी मुम्बई।
  4. समाजशास्त्रःसिंधीं गोस्वामी
  5. समाजशास्त्रःएक परिचय जे0 पी0 सिंह
  6. समाजशास्त्रःपंत गुप्ता एवं जैन