MASO01

समाजशास्त्र के मूल तत्व
Programme: 
M. A. Sociology MASO10
Year / Semester: 
1st Year
Objective: 

समाजशास्त्र के मूल तत्वों के बारे मैं जानकारी पर्दान करना

Credits: 
8

खण्ड 1 समाजशास्त्र के आधारभूत पक्ष

इकाई 1 समाजशास्त्रः विकास एवं अभिगमः ऐतिहासिक कार्यात्मक एवं अन्तर्द्वन्द्व

इकाई 2 आदमी की समाजशास्त्रीय अवधारणा

इकाई 3 समाजः अर्थ विशेषताएं समाज और एक समाज में अन्तर

इकाई 4 संस्कृति: अर्थ विशेषतायें सिद्वान्त एवं अवधारणाएॅ

इकाई 5 सामाजिक व्यवस्था एवं सामाजिक व्यवहार

इकाई 6 सामाजिक संरचना एवं प्रकार्य

खण्ड 2 समाजशास्त्र की केन्द्रीय अवधारणायें

इकाई 7 समाजीकरण अवधारणा, सोपान और सिद्वान्त

इकाई 8 सामाजिक समूह, प्रकार- प्राथमिक एवं द्वितीयक

इकाई 9 समुदाय

इकाई 10 संस्था एवं समिति

इकाई 11 सामाजिक प्रक्रियायेंः सहयोगी सहयोग, समायोजन, सात्मीकरण, असहयोगी

इकाई 12 प्रस्थिति एवं भूमिकाः अवधारणा, स्थिति एवं भूमिका के मध्य संबंध

इकाई 13 प्रतिमान एवं मूल्यः अवधारणा और वर्गीकरण

खण्ड 3 सामाजिक असमानता,नियंत्रण एवं परिवर्तन

इकाई 14 निराशा विचलन एवं स्वत्व अंतरण

इकाई 15 असमानता एवं सामाजिक स्तरीकरण अवधारणा एवं आधार

इकाई 16 सामाजिक स्तरीकरण के सिद्वान्त

इकाई 17 सामाजिक नियंत्रण: अवधारणा, संस्थाएं एवं प्रकार

इकाई 18 सामाजिक परिवर्तनः अवधारणा, कारक, प्रक्रिया, उद्विकास, विकास, प्रगति, क्रान्ति, वृद्वि

इकाई 19 सामाजिक परिवर्तन के सिद्वान्त

इकाई 20 अलगाव: अवधारणा एवं सिद्वान्त

इकाई 21 सामाजिक क्रिया: अर्थ परिभाषा एवं सिद्वान्त

Suggested Readings: 
  1. Bottomore, T. B. 1972. Sociology: A Guide to Problems and Literature, Bombay: George Allen and Unwin
  2. Giddens, A 2000. Sociology: An Introduction, Cambridge: Polity Press.
  3. GISBERT, PSJ, 1993. FUNDAMENTALS OF SOCIOLOGY, BOMBAY: ORIENT LONGMAN.
  4. Haralambos, M. 1998 Sociology: Themes and Perspectives, New Delhi: Oxford University Press.
  5. Herskovits, Mel J, 1969. Cultural Anthropology, New Delhi: Oxford and IBH Publishers.
  6. Kaur, Savinderjit 1987. Samaj Vigyan De Mool Sankalp, Patiala: Punjabi University.
  7. Koening, Samuel 1968. Sociology: An Introdution to the Science of Society, New York: Barnes and Noble (Punjabi Translation also available. Translated by Baldev Singh and published by Punjabi University.)