MBAH103

व्यावसायिक सन्नियम
Year / Semester: 
1st Semester
Objective: 

इकाई के अध्ययन के उपरांत आप निम्नलिखित विषयों के बारे में जान सकेंगे -
अनुबंध, वैधानिक नियम, अनुबंध एवं सहमति, व्यर्थ एवं व्यर्थनीय अनुबंध, अनुबंध के निष्पादन एवं खंडन, वस्तु विक्रय अधिनियम, अनुबंध के निष्पादन एवं स्वामित्व हस्तांतरण, साझेदारी अधिनियम, साझेदारी अधिनियम (अधिकार, कर्तव्य), उपभोक्ता अधिनियम, कम्पनी अधिनियम, कंपनी के निर्माण संबंधी प्रक्रिया, अंश पॅूजी, नामांकन एवं हस्तांतरण, कंपनी के प्रबंध, अन्याय एवं कुप्रबंध

Credits: 
6

अनुबन्ध की अवधारणा तत्व, अनुबन्ध करने की क्षमता, व्यर्थ एवं व्यर्थनीय अनुबन्ध, अनुबन्ध का निष्पादन, वस्तु विक्रय अधिनियम, अनुबन्ध का निष्पादन, साझेदारी अधिनियम 1932, साझेदारी के आपसी सम्बन्ध, उपभोक्ता संरक्षण अधिनियम, भारतीय कम्पनी अधिनियम-एक परिचय, कम्पनी निर्माण की प्रक्रिया, अंश, अंश पूँजी तथा इसका आवंटन, नामांकन एवं हस्तांकन, कम्पनी का प्रबन्ध, अन्याय एवं कुप्रबन्ध की रोकथाम

Suggested Readings: 
  1. एम. सी. कुच्छल, आधुनिक भारतीय कम्पनी अधिनिमय, श्री महावीर बुक डिपो, दिल्ली, 1990
  2. एन. डी. कपूर, दिनकर पगोरे तथा भारत भूषण, कम्पनी अधिनियम, सुल्तान चंद एण्ड सन्स, दिल्ली, 1988
  3. पाण्डेय एवं पाण्डेय, कम्पनी अधिनिय, मेरठ पब्लिशिंग होम, 2009
  4. शुक्ला एवं पाण्डेय, भारतीय कम्पनी अधिनियम, हनु प्रकाशन पीली कालोनी, लखनऊ-2007
  5. सक्सेना एवं सक्सेना, भारतीय संविदा अधिनियम, प्रकाशन केन्द्र, लखनऊ-1994
  6. पाण्डेय एवं सिंह, व्यापारिक नियम, एपसाइलन पब्लिशिंग हाउस प्रा. लिमिटेड, कानपुर-2006
  7. गुप्ता, बी. एल व्यावसायिक नियमन रूपरेखा, नवयुग साहित्य सदन, आगरा-2005
  8. शुक्ला एवं सहाय, व्यापरिक सान्नियम - साहित्य भवन पब्लिकेशन, आगरा-2001
  9. Chawala & Garg - Marcantile Law, Kalyani Publication, Delhi-2008
  10. Kuchhal. M.C - Business Law, Vikash Publishing House Private Limited Noida-2008
  11. Kapoor.N.D - Marcantile Law, Sultanchand and Co.,New Delhi-2008