MY203

प्राक़ृतिक चिकित्‍सा
Programme: 
M.A. Yoga MAY13
Year / Semester: 
2nd Year

ब्लाक 1. प्राकृतिक चिकित्सा  का अर्थ] इतिहास एवं सिद्धान्त
इकाई - 1. प्राकृतिक चिकित्सा का अर्थ ,परिभाषा, प्रादुर्भाव एवं विकास
इकाई - 2. प्राकृतिक चिकित्सा के मूलभूत सिद्धान्त
इकाई - 3. पंच महाभूत एवं महत तत्व का परिचय
ब्लाक 2. स्वास्थ्य रोग एवं निदान विधियौ
इकाई - 4.  स्वास्थ्य एवं रोग की अवधारणा
इकाई - 5.  विजातीय द्रव्‍य का सिद्धान्त
इकाई - 6.  शारीरिक-मानसिक एवं आध्यात्मिक रोगों की अवधारणा
इकाई - 7.  निदान की विविध विधियॉ
ब्लाक 3. प्राकृतिक चिकित्सा की उपचार विधियॉ
इकाई - 8.   जल चिकित्सा में प्रयुक्त विविध पट्टियॉ
इकाई - 9.   अग्नि तत्व की  विभिन्न रोगों में प्रयुक्त विधियां
इकाई - 10.  उपवास के सिद्धान्त] महत्व] उपवास के प्रकार एवं सावधानियां
इकाई - 11.  मिट्टी के प्रकार- महत्व एवं विभिन्न रोगों में उसका प्रयोग
ब्लाक 4. प्राण चिकित्सा तथा प्रतिरोधक क्षमता
इकाई - 12.  प्राण शक्ति की अवधारणा, स्रोत एवं सिद्धान्त
इकाई - 13.  प्राण चिकित्सा की सीमा, लाभ व सावधानियां
इकाई - 14.  प्राण-ऊर्जा एवं प्रतिरोधक क्षमता का सम्बन्ध एवं रोगोपचार
इकाई - 15.  प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के उपाय
ब्लाक 5. अभ्यंग चिकित्सा
इकाई - 16.  अभ्यंग चिकित्सा का अर्थ-परिभाषा] सिद्धान्त व उपयोग
इकाई - 17.  अभ्यंग की विधियां व अभ्यंग में प्रयुक्त तेल
इकाई - 18.  विभिन्न रोगों में अभ्यंग का प्रयोग एवं सावधानियां
ब्लाक 6. एनिमा
इकाई - 19.  एनिमा की विधि एवं परिचय
इकाई - 20.  एनिमा में प्रयुक्त होने वाले पानी व तेल
इकाई - 21.  विविध रोगों में एनिमा का प्रयोग एवं सावधानियॉ